Full Form Full Form in Hindi Hindi Full Form

MLA Full Form in Hindi

Written by Writer Team

MLA Full Form:- Hello Friends, क्या आप भी जानना चाहते हैं की MLA ka Full Form क्या होता है तो इस आर्टिकल में आप सभी को इसके बारे में पूरा जानकारी दिया जा रहा है जिसे आप पढ़कर समझ सकते हैं की MLA ka Full Form क्या होता है. MLA के फुल फॉर्म के साथ इसके बारे में और भी जानकारी इस पोस्ट में दिया जायेगा तो आप इस पोस्ट को लास्ट तक पढ़कर इसके बारे में पूरा जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

आपको बता दें की कुछ दिन पहले ही लोक सभा चुनाब हुआ है जिसमे MP के लिए चुनाब किया गया. लेकिन आज हम बिधान सभा चुनाब में चुने जाने बाले MLA के इस पोस्ट में बात करेगें तो आप इस पोस्ट को ध्यान से पढ़े ताकि आप जान सकें की MLA क्या है और किसे कहते हैं.

MLA Full Form in Hindi: MLA क्या है

तो दोस्तों आपको बता दें की MLA Full Form: Member of Legislative Assembly होता है. और MLA को हमलोग विधायक भी कहते हैं.

What is MLA in Hindi

बता दें की MLA बिधानसभा का सदस्य होता है. MLA एक निवार्चन क्षेत्र के मतदाताओं द्वारा भारत में राज्य सरकार की बिधायिका के लिए चुना गया प्रतिनिधि होता है. बिधान सभा के सदस्य MLA लोगो द्वारा चुने जाते हैं. एमएलए की अपनी स्थितियों के अनुसार अलग-अलग जिम्मेदारियां होती है, कुछ के पास एक से अधिक जिम्मेदारी होती है. उदाहरण के लिए एक बिधायक होने के नाते वह कैबिनेट मंत्री और सीएम भी हो सकता है.

MLA कैसे बनते हैं

MLA कैसे बने तो हम अब इसके बारे में जानते हैं. तो अगर आप भी MLA बनना चाहते हैं तो आपको पता होना चाहिए MLA को जनता के द्वारा चुना जाता है और इसके लिए MLA को किसी भी पार्टी से चुनाब लड़ना होता है. और आप सभी को बता दें की किसी भी पार्टी के मतलब किसी भी राजनीतिक पार्टी जैसे कांग्रेश बीजेपी राजद जैसे और भी कई पार्टी है. और ऐसा नहीं है की सिर्फ वही लोग इलेक्शन लड़ते हैं जो किसी पार्टी से बिलोंग करते हैं बिलकुल ऐसा नहीं है अन्य साधारण लोग भी MLA का इलेक्शन लड़ सकते हैं वो भी किसी पार्टी बना सकते हैं, और MLA का चुनाब लड़ने के लिए कम से कम आपकी उम्र 25 बर्ष होना आपके लिए अनिबार्य है !

बिधायक की जिम्मेदारियां (Responsibilities of An MLA)

MLA की अपनी स्थितियों के अनुसार अलग अलग जिम्मेदारियां होती है, कुछ के पास एक से अधिक जिम्मेदारी होती है. जैसे की एक उदाहरण के लिए बिधायक होने के नाते बह कबिनेट मंत्री और मुख्मंत्री भी हो सकते हैं जैसा की ऊपर आपको बताया गया. MLA की मूल जिम्मेदारियां निम्नलिखित है.

  • एक बिधायक लोगो की शिकायतों और आकान्शाओ का प्रतिनिधित्त्व करता है और उन्हें राज्य सरकार के पास ले जाता है.
  • उसे अपने निवार्चन क्षेत्र के स्थानियो मुद्दे को राज्य सरकार के सामने उठाना चाहिए .
  • उसे अपने निवार्चन क्षेत्र के सद्श्यों के लाभ के लिए कई बिधायिकी साधनों का उपयोग करना चाहिए.
  • और उसे अपने निवार्चन क्षेत्र को बिकसित करने के लिए स्थानीय क्षेत्र बिकास LAD फंड का उपयोग करना चहिये.

MLA कौन होता है (Who Is MLA)

MLA एक निर्बाचन क्षेत्र के मतदाताओं द्वारा भारत में राज्य सरकार की बिधायिका के लिए चुना गया प्रतिनिधि होता है. विधान सभा के सदस्य MLA द्वारा चुने जाते हैं. जो भारत का एक विकाशसील देश है, यहाँ की राजनीतिक ब्यबस्था के अनुसार प्रशासन को चलने के लिए राजनीतिक नेतृत्त्व प्रणाली को 3 भागों में बांटा गया है.-

  1. केंद्र स्तर पर सांसद और केंद्र सरकार
  2. राज्य स्तर पर बिधानसभा और राज्य सरकार
  3. जिला या तहसील स्तर पर जगर पालिका या नगर निगम

MLA की कार्यावधि

विधान सभा का कार्यकाल आपलोग जानते ही होंगे की पुरे 5 साल का होता है चाहे कोई भी राजनीति का बिधायक हो, हालाँकि यह मुख्यमत्री के अनुरोध पर राज्यपाल द्वारा उससे पहले भी भंग किया जाता है. आपातकाल के दौरान बिधान सभा का कार्यकाल बढ़ाया भी जा सकता है लेकिन एक बार में छह महीने से अधिक इसे नहीं बढाया जा सकता है.

निष्कर्ष :-

तो आप सभी के साथ इस पोस्ट में MLA के बारे में पूरा जानकारी शेयर किया गया, यहाँ पर MLA का फुल फॉर्तोम भी आप सभी को बताया गया है. अगर आप सभी को MLA के बारे में जानकारी अच्छा लगा हो तो इस पोस्ट को आगे शेयर जरुर करें.

About the author

Writer Team

Learn More About Technology with Hindi Tech Tricks. We have a team of writers who write informative posts for you all. Keep Reading and Sharing.

Leave a Comment