Jankari

Fastag क्या है, और इसे Use कैसे करें- पूरी जानकारी हिंदी में

Fastag क्या है, और इसे Use कैसे करें
Written by Writer Team

हेल्लो दोस्तों, क्या आप भी जानना चाहते हैं की Fastag क्या है. तो इस आर्टिकल के द्वारा आप सभी को Fastag से जुड़ी हर जानकारी यहाँ पर दिया जा रहा है जिसे पढ़कर आप इसके बार में पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

यदि आप भी Road में Travel करना पसंद करते हैं तो आपको इसके बारे में मालूम जरुर होना चाहिए, नहीं तो आपको Toll Plaza में ज्यादा फीस भरना पड़ सकता है, अगर किसी गाड़ी के owner ने अपने गाड़ी पर Fastag का इस्तेमाल नहीं करता है तब.

इसलिए आप सभी क इस पोस्ट के माध्यम से Fastag के बारे में पूरी जानकारी दिया जा रहा है जिसे आपको Toll Fees में Cash Payment देने के लिए जरूरत नहीं पड़ सकता है.

आपको इसके जानकारी के बारे में बता दें की Fastag का उपयोग Toll Gates में यातायात सुबिधा के लिए किया गया है, जिससे आपको अपने पास कैश पेमेंट रखने की जरुरत नहीं है. अगर आप गाड़ी चलाने में Fastag का उपयोग करते हैं तो डायरेक्ट आपके बैंक अकाउंट से पैसे कट जाते हैं.

Fastag के बारे मे पुरी जानकारी हिंदी में

तो आप सभी को बता दें की Fastag एक बहुत ही आसानी से इस्तेमाल किये जाने बाला Reloadable Tag है जो टोल शुल्क की कटौती को सक्षम करता है. और आपको Toll Plaza से पास होने के लिए कसी भी प्रकार के Cash Transaction के लिए रोका नहीं जाता है. क्योंकि आपके बैंक अकाउंट से डायरेक्ट पैसे कट जाते हैं.

इसे इस्तेमाल करने के लिए Radio Frequency Identification Technology का उपयोग किया जता है, जिसे गाड़ी के सामने वाले शीशे (windscreen) पर चिपकाया जाता है. टोल बूथ पर RFID रीडर होंगे जो इसे Fastag को स्कैन करेंगे और स्कैन करते ही आपके फास्टैग अकाउंट से पेमेंट हो जाएगी. जिसकी इंफॉर्मेशन आपको SMS के जरिए मिल जाएगी.

फास्टैग कैसे एक्टिवेट या रिचार्ज कैसे करें

Fastag को खरीदने के बाद आपको इसे Activate करना होगा, इसके लिए आपको अपने स्मार्टफोन पर NHAI की टोल कलेक्शन के लिए बनाई गयी Fastag app install करनी होगी. और यहां पर आपको टैग के सीरीयल नंबर के साथ इसे रजिस्टर करना होगा. और इस Apps में मांगी गई जानकारी फिल करने के बाद यह एक्टिवेट हो जाएगा.

बता दें कि एक Fastag को सिर्फ एक गाड़ी में यूज किया जा सकता है. और इस App के जरिए आप Fastag को रिचार्ज भी कर सकते हैं. जबकि App पर आप अपने अकाउंट से संबंधित जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैं.

Fastag की Validity पांच साल तक की होगी जिसमे यूजर्स को एक बार में कम से कम 100 रुपये तक का रिचार्ज करना होगा. और KYC किए हुए Fastag Account में 100,000 रुपये तक अपने फास्टैग अकाउंट में रख सकते हैं.

NHAI के अनुसार जो सबसे बड़े Advantages आपको इस्तेमाल करने से प्राप्त होते हैं. और बो आपको Toll Transacation के लिए कोई Cash Payment ले जाने की जरुरत नहीं पड़ती है. और इसमें आपको टाइम सेविंग भी होती है. इसके साथ ही आपकी समय भी ज्यादा वेस्ट नहीं होती है.

फास्टैग के फायदे ( Benefits of FasTag or ETC)

सड़क एवं परिवहन मंत्रालय ने टोल प्लाजा में Tall Tax देने के कारण लगने वाली गाड़ियों की लम्बी लाइन और खुले पैसे होने की समस्या को हल करने के लिए फास्टैग सिस्टम को देश के कई टोल प्लाजाओं पर शुरू किया है. और फास्टैग की मदद से आपका समय बचने के साथ-साथ आपके पेट्रोल या डीजल की भी बचत होगी.

और इतना ही नहीं साल 2016-17 के बीच इसका इस्तेमाल करने वाले लोगों को सभी टोल भुगतानों पर 10% का कैशबैक भी दिया जा सकता है. वहीं 2017-2018 के बीच आपको 7.5 %, कैश बैक तो 2018-2019 के बीच 5 % का कैश बैक और 2019-2020 तक 2.5 %  कैश बैक मिलेगा.

आपका ये कैश बैक एक सप्ताह के अंदर आपके फास्टैग के खाते में आ जाएगा. अभी तक फास्टैग केवल भारत के कुछ शहरों के टोल प्लाजा पर ही लागू किया गया है. लेकिन इसके सफल होने के बाद सभी सड़क एवं परिवहन मंत्रालय द्वारा इसे जल्द ही देश के हर टोल प्लाजा पर शुरू करने की कोशिश किया जा रहा है.

(ETC) इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह क्या है

तो आपको सबसे पहले बता दें की ETC का फुल फॉर्म (इलेक्ट्रॉनिक टोल संग्रह) होता है, इसे अंग्रेजी में (Electronic Toll Collection) कहते हैं.

यह राजमार्ग टोलों के इलेक्ट्रॉनिक भुगतान की व्यवस्था है जिसमें किसी भी प्रकार की मानव का छेड़छाड़ नहीं होती है. Electronic Toll Collection सिस्टम वाहन से सड़क के किनारे संचार तकनीकों का उपयोग करते हैं ताकि यह वाहन और टोल संग्रह एजेंसी के बीच इलेक्ट्रॉनिक Monetary लेन देन कर सकता है.

भारत में कब शुरू हुआ फास्टैग,

भारत में ये सिस्टम सबसे पहले अहमदाबाद और मुंबई के बिच हाईवे पर 2014 में शुरू किया गया था. और जुलाई 2015 में इसे चेन्नई से बेंगलुरु के बिच टोल प्लाजा पर शुरू किया गया था. अभी तो लगभग 332 देश के टोल प्लाजाओं पर इस सुविधा को शुरू कर दिया गया है. यानी की इन टोल प्लाजाओं में आप फास्टैग के जरिए अपने Toll Tax का भुगतान कर सकते हैं.

Fastag कहाँ से खरीदें?

Fastags को आप ऑथराइज्ड बैंक, Axis Bank, ICICI Bank, IDFC Bank, Syndicate Bank, SBI और HDFC Bank से खरीद सकते हैं. और इसे आप पेट्रोल पंप, RTO, टोल प्लाजा और Paytm से भी खरीद सकते हैं. जिसकी वैलिडिटी 5 साल की होती है ऊपर में आप सभी को बताया गया है.

फास्टैग लेने के लिए आवश्यक डाक्यूमेंट्स ( FASTag Documents )
  • वाहन के पंजीकरण प्रमाण पत्र (आरसी)
  • वाहन मालिक के पासपोर्ट फोटो
  • वाहन मालिक के केवाईसी दस्तावेज और एड्रेस प्रूफ
  • वाहन मालिक का आधार कार्ड

निष्कर्ष:-

तो दोस्तों आज के इस आर्टिकल के द्वारा आप सभी को फ़ास्टैग क्या है इसके बारे में पूरा जानकारी दिया गया है. मुझे उमीद है की आप सभी को यह पोस्ट काफी अच्छा लगा होगा और इसके बारे में आप जान भी गये होंगे की Fastag क्या है और इसकी पूरी जानकारी क्या होती है.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहता है की readers को फास्टैग एक्टिवेट कैसे करे के विषय में पूरी जानकारी प्रदान की जाये जिससे उन्हें किसी दुसरे site पर से खोजने की जरुरत ना पड़े. और इससे आपकी समय का भी बचत हो. और सारे information एक ही जगह से प्राप्त कर सकें.

About the author

Writer Team

Learn More About Technology with Hindi Tech Tricks. We have a team of writers who write informative posts for you all. Keep Reading and Sharing.

Leave a Comment