Blogger Internet

ब्लॉग्गिंग क्या है What Is Blogging in Hindi?

blogging hindi kya hai

What Is Blogging in Hindi?

हेल्लो फ्रेंड्स, आपमें से बहुत से लोग ये जानना चाहते होंगे की वास्तव में ब्लॉग्गिंग क्या है और शायद यही कारन है कि आप इस पेज पर हैं अभी. ध्यान रखें कि हम यहाँ पर Vlogging की नहीं Blogging की कर रहे हैं. हालाँकि इस पेज पर मैं आप सभी को व्लोग्गिंग के बारे में भी थोड़ी सी जानकारी अवश्य दूंगा.

यदि आप इन्टरनेट पर थोडा सा समय बिता चुके हैं तो आपको वास्तव में पता होना चाहिए कि ब्लॉग्गिंग क्या है क्योंकि ये आपके लिए एक गेम चेंजर साबित हो सकता है.

वैसे मैंने ब्लॉग और वेबसाइट से संबंधित बहुत सारे पोस्ट पहले ही लिख दिए हैं जिसे आप निचे के लिंक से पढ़ सकते हैं…

तो चलिए अब आते हैं मैं मुद्दे यानि ब्लॉग्गिंग क्या है… पर

What Is Blogging in Hindi?

यदि आपको किसी चीज के बारे में जानकारी है और आप चाहते हैं कि इन्टरनेट की सहायता से इसे ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पंहुचा सकें तो आप इसके लिए एक ब्लॉग बना सकते हैं. आप ये ब्लॉग फ्री में भी बना सकते हैं या फिर वर्डप्रेस पर पेड भी बना सकते हैं.

यदि आप अपने ब्लॉग पर किसी चीज के बारे में लिखते हैं और लोग इसे पढ़ते हैं तो इसका मतलब है कि आप ब्लॉग्गिंग कर रहे हैं.

जैसे कि हमने अभी अपने ब्लॉग Hindi Tech Tricks पर ये पोस्ट लिखा है और आप ये पोस्ट पढ़ रहे हैं इसका मतलब मैं ब्लॉग्गिंग कर रहा हूँ और आप इस ब्लॉग का एक रीडर हैं. 

अब जरा इन शब्दों को बारी बारी से समझते हैं…

  • ब्लॉग : वो साईट जहाँ पर आप अपना पोस्ट लिखेंगे.. जैसे हिंदी टेक ट्रिक्स एक ब्लॉग है.
  • ब्लॉगर : जो व्यक्ति उस ब्लॉग पर लिखता है… जैसे मैं एक ब्लॉगर हूँ.
  • ब्लॉग्गिंग : ब्लॉग पर लिखने का काम ही ब्लॉग्गिंग कहलाता है… यानि की मैं ब्लोग्ग्गिंग कर रहा हूँ.

अब बात ये रह जाती है कि ब्लॉग्गिंग क्यों करें ?

इसके दो कारन हो सकते हैं….

  1. रूचि : यदि आप में किसी चीज के बारे में लिखने की रूचि है और आप चाहते हैं कि लोग ये पढ़ें तो आप अपना एक ब्लॉग बना सकते हैं और फिर इसे लोगों के साथ शेयर कर सकते हैं. इस प्रकार आप ब्लॉग्गिंग कर रहे होंगे.
  2. ऑनलाइन पैसे कमाने के लिए : ब्लॉग्गिंग करने का ये सबसे बड़ा कारन है. जी हाँ, आप ब्लॉग्गिंग करके पैसे कमा सकते हैं वो भी घर बैठे. आपको अपना के ब्लॉग बनाना है उस पर आपको पोस्ट लिखना है. उसे आप सोशल मीडिया पर शेयर करेंगे और साथ ही SEO की सहायता से आपको गूगल से ट्रैफिक प्राप्त होगा. जब लोग आपके ब्लॉग पर आयेंगे तो आप Google Adsense या अन्य तरीके से अपने ब्लॉग से कमाई कर सकते हैं. 

क्या ब्लॉग बनाना फ्री है ?

जी हाँ, ये फ्री है यदि आप गूगल के टूल blogspot का उपयोग करते हैं तो… इसके जरिये आप ब्लॉग बना सकते हैं और उस पर पोस्ट कर सकते हैं साथ ही Google Adsense की सहायता से Ad भी शो कर सकते हैं और इसके लिए आपको एक भी रूपये नहीं देना होगा.

लेकिन जब आप इसमें थोड़े पुराना हो जाते हैं तो आप कस्टम डोमेन लेंगे .. या फिर अपने ब्लॉग के लिए अलग से होस्टिंग लेकर वर्डप्रेस पर आयेंगे तो आपको निश्चित रूप से इसके लिए पैसे खर्च करने होंगे.

कुछ महत्वपूर्ण ब्लॉगर सर्विस निम्न है जो ब्लॉग बनाने की सुविधाएँ प्रदान करती है :-

  • WordPress
  • Blogger
  • Tumblr
  • Medium
  • Quora

 

क्या फर्क है Blogging और Vlogging में ?

जब हम कंटेंट को लिखते हैं और उसे अपने ब्लॉग पर पब्लिश करते हैं तो ये कहलाता है Blogging.

और Vlogging कर अर्थ है Video Blogging …. इतना से आपको समझ में तो आ ही गया होगा… अगर फिर भी समझ में नहीं आया तो आपको बता दें कि जब आप अपना विडियो बनाते हैं और इसे विडियो शेयर प्लेटफार्म जैसे यूट्यूब इत्यादि पर शेयर करते हैं तो ये कहलाता है व्लोग्गिंग.

ब्लॉग्गिंग से क्या फायदे हैं ?

इसके बहुत सारे फायदे हैं जो हर व्यक्ति के लिए अलग अलग हो सकता है…

ऑनलाइन कमाई : ये सबसे बड़ा कारन है ब्लॉग्गिंग में आने का जैसा कि मैंने ऊपर बताया है.. इसका मतलब ये नहीं है सभी लोग सिर्फ पैसे के कारण ही ब्लॉग्गिंग करते हैं.

नयी चीजें सीखना : जब आप ब्लॉग्गिंग करते हैं तो किसी टॉपिक पर लिखते हैं. और ऐसा कोई भी व्यक्ति नहीं है जो पहले से ही सब कुछ जानता है ऐसे में उसे उस टॉपिक पर लिखने के लिए रिसर्च करना होता है और उसके बारे में जानकारी लेनी होती. इस प्रकार वो नयी नयी चीजें सीखता रहता है.

बेहतर लिखने की कला : जब कोई इसकी शुरुआत करता है तो वो सोचता है कि क्या लिखूं या क्या नहीं लिखूं लेकिन जैसे जैसे वो इस क्षेत्र में पूराना होता जाता है वो इसमें सुधार करते जाता है और फिर उसकी ये कला काफी अच्छी हो जाती है.

अपने आप को एक्सप्रेस करना : कहते हैं कि जो बाते बोल नहीं सकते वो बातें लिख दो, और इसके ब्लॉग्गिंग एक बेहतरीन जरिया है इसका. यकीन मानिये जब कोई लिखना शुरू करता है तो इतनी बातें आती है दिमाग में कोई भी पोस्ट लम्बा और लम्बा होता चला जाता है.

दुसरो की सहायता : आप घर बैठे ही दुसरे लोगों की सहायता कर रहे होते हैं. लोगों के पास सवाल होते हैं और आप उनका जवाब दे देते हैं जिनसे आप दोनों को फायदा होता है.

और भी बहुत सारे फायदे हैं जो आप खुद महसूस कर सकते हैं इस क्षेत्र में आकर….

इसका मतलब ये नहीं है कि ये आसान है और आप काफी आसानी से इसे कर सकते हैं. कुछ बातें जो आपको हमेशा ध्यान में रखनी चाहिए वो ये कि…..

हमेशा ब्लॉग अपडेट करना : जब आप अपना ब्लॉग बनाते हैं तो ऐसा नहीं है कि आपने के पोस्ट लिखा और उसे छोड़ दिया. आपको इसके लिए समय देना होगा आपको जितना ज्यादा से ज्यादा पोस्ट लिख सकें ये आपके ब्लॉग के लिए बेहतर होगा. यहाँ ध्यान दें कि आपके पोस्ट के क्वालिटी भी सही होने चाहिए. ये कॉपी पेस्ट नहीं होनी चाहिए.

सब्र रखना : जब आप ब्लॉग बनाते हैं तो आप पहले ही दिन से कमाने नहीं लगते हैं ऐसे में आपको सब्र रखना होगा और हार्ड वर्क करते रहना होगा. आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक आना चाहिए…. गूगल adsense का अप्रूवल मिलना चाहिए.

टेक्निकल सीखना : जब आपका अपना ब्लॉग होगा तो छोटी मोटी परेशानियाँ आती रहेगी ऐसे में जरुरी है कि आप अपने ब्लॉग के एडिटिंग और डिजाइनिंग जैसी बातें हमेशा सीखते रहें.

तो इस तरह मैं आप सभी को इस पोस्ट में बताया कि ब्लॉग्गिंग क्या है और इसके अलावे ब्लॉग्गिंग से संबंधित ढेर सारी जानकारी मैंने आप सभी को दी. इसके अलावे भी यदि आप कुछ जानना चाहते हैं तो आप कमेंट में पूछ सकते हैं.

About the author

Prakash Kumar Nirala

Prakash Kumar Nirala is a Techy who loves to spread his technical knowledge with all.

1 Comment

Leave a Comment