Internet Jankari Mobile

GPS क्या है, यह कैसे काम करता हैं? GPS Full Form in Hindi

GPS kya hai, GPS kaise kaam karta hai, GPS ki jankari, GPS full form in hindi, full form of GPS, GPS ka pura naam kya hai.

Hello Friends, क्या आप जानना चाहते हैं कि GPS का फुल फॉर्म क्या है, या जीपीएस क्या होता है और यह कैसे काम करता है तो ये पोस्ट आप सभी के लिए सबसे बेस्ट साबित होने वाली है.

इस पोस्ट में आप सभी को GPS के पूरी जानकारी दी जाएगी और साथ ही ये भी बताया जायेगा कि GPS का फुल फॉर्म क्या होता है. तो आइये शुरू करते हैं आज की ये शानदार पोस्ट…

GPS Meaning in Hindi:

GPS Full Form:

GPS ka full form Global Positioning System hota hai. या यूँ कहें तो…

Full Form GPS –

GPS का मतलब Global Positioning System है जो आज के डिजिटल युग के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हो चूका है.

GPS Full Form in Hindi:

यदि हिंदी में जीपीएस का फुल फॉर्म जानना चाहें तो इस हम लिख सकते हैं ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम तो इस प्रकार आपने जीपीएस के हर एक फुल फॉर्म को सिखा चाहे वो इंग्लिश में हो या हिंदी में.

अब हमारी ये जानने की बारी है कि आखिर जीपीएस क्या होता है..

What is GPS in Hindi? GPS क्या है?

GPS (Global Positioning System) एक ऐसा सिस्टम है जिसके द्वारा आप दुनिया के किसी भी जगह का पोजीशन की जानकारी आप प्राप्त कर सकते हैं.

ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम  ( जीपीएस ) एक उपग्रह नेविगेशन प्रणाली है जिसका उपयोग किसी विशेष स्थान तक पहुंचने के लिए सटीक स्थान, वेग और समय जानने के लिए किया जाता है.

यह संयुक्त राज्य सरकार द्वारा बनाया गया है और मूल रूप से सैनिकों और सैन्य वाहनों की सहायता के लिए डिज़ाइन किया गया था, लेकिन अब यह जीपीएस रिसीवर वाले किसी भी व्यक्ति के लिए स्वतंत्र रूप से उपलब्ध है और सभी इसका उपयोग कर सकते हैं.

उपग्रह सौर ऊर्जा से संचालित होते हैं लेकिन सौर ऊर्जा न होने पर उन्हें चालू रखने के लिए उनके पास बैकअप बैटरी ऑनबोर्ड भी होते हैं जिसके कारन यह सभी समय पर काम कर रहा होता है.

पहला जीपीएस 1960 के दशक में अमेरिकी नौसेना के जहाजों को और अधिक सटीक रूप से नेविगेट करने में मदद करने के लिए विकसित किया गया था. पहली प्रणाली पांच उपग्रहों के साथ शुरू हुई थी जो जहाजों को हर घंटे में एक बार अपने स्थान को सत्यापित करने की अनुमति देते थे.

और अब यह इतना विकाश कर चूका है Mobile, Rail, Bus, Car  इत्यादि बहुत सारी पब्लिक चीजों में उपयोग की जाती है.

गूगल मैप का उपयोग तो आप सभी धड़ल्ले से कर ही रहे होंगे और ये भी आपके फ़ोन के जीपीएस पर ही काम करता है. आपके फ़ोन के जीपीएस के मदद से ही ये आपके फ़ोन का लोकेशन बता देता है और आप अपने फ़ोन को ट्रैक भी कर सकते हैं.

इसकी सहायता से अब हम कही का भी लोकेशन काफी आसानी से सर्च कर सकते हैं. मान लीजिये की आप किसी अंजन जगह पर गए हैं और आपको पता करना कि ये जगह कौन सी है तो आप जीपीएस और गूगल मैप की सहायता से काफी आसानी से ऐसा कर सकते हैं.

आप जीपीएस की सहायता से अपने किस फॅमिली को उसकी सुरक्षा के लिए ट्रैक भी कर सकते हैं कि अभी इस समय पर वो किस लोकेशन पर हैं और इसके लिए आपको कुछ एप्प की जरुरत पड़ सकती है.

basically जीपीएस में निम्न तीन सेग्मेन्ट्स होते है हैं जिन्हें बारी बारी से निचे बताया गया है…

Parts of GPS in Hindi

इसे तीन अलग-अलग खंडों में विभाजित किया जा सकता है जो निम्नलिखित हैं:

Space Segment: उपग्रहों को refers  करता है। छह कक्षीय विमानों में लगभग 24 उपग्रह वितरित किए गए हैं.

Control Segment: यह उपग्रहों को बनाए रखने और निगरानी करने के लिए विकसित पृथ्वी पर स्थित स्टेशनों को refers  करता है.

User Segment: यह उन उपयोगकर्ताओं को refers करता है जो स्थिति और समय की गणना करने के लिए जीपीएस उपग्रहों से प्राप्त नेविगेशन संकेतों को संसाधित करते हैं.

GPS कैसे काम करता है How GPS Works in Hindi:

GPS 32 सॅटॅलाइट का एक समुह है जो कि पृथ्वी की सतह से लगभग 26,600 किलो मीटर कि दुरी पर स्थित है. वैसे तो सेटेलाइट का सवामित्व अमेरिका के पास है लेकिन इसका उपयोग कोई भी कर सकता है बशर्ते उसके पास इसके लिए एक रिसीवर हो.

GPS Receiver इन्ही सॅटॅलाइट से भेजे गये सिग्नल के संकेतो के आधार पर स्थान बताते है. यह सटीक और बेहतर गणना के लिए चार सेटेलाइट का उपयोग करता है. यह users को Three- Dimensional Position Latitude, Longitude Line और Elevation के बारे मे जानकारी देता है.

तो इस तरह जीपीएस ओवरलैपिंग मण्डल का उपयोग करके किसी भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का सही लोकेशन पता करने में हेल्प करता है. इसे समझने के लिए आप निचे के इस इमेज का सहारा ले सकते हैं.

Uses of GPS in Hindi, GPS का उपयोग:

जीपीएस का उपयोग बहुत सारे कामों के लिए किया जाता है और इनमे से कुछ के बारे में आज के इस पोस्ट में हम चर्चा करंगे…

पोजीशन लोकेट करना

इसके द्वारा मैं काम यही लिया जाता है कि ये जीपीएस से युक्त टेक्नोलॉजी डिवाइस का लोकेशन पता कर सकता है. इसका उपयोग करके आप अपने फ़ोन का लोकेशन भी पता कर सकते हैं या किसी अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस का यदि वो जीपीएस सपोर्ट करता है तो.

Emergency Road Side Support:

ये इस टेक्नोलॉजी की खासियत है कि यदि किसी प्रकार के दुर्घटना से आपका सामना हो जाता है और आप एमरजेंसी नंबर पर डायल करते हैं तो आपातकालीन दल आपके लोकेशन पर सहायता के लिए पहुच जायेंगे यदि आपने अपना लोकेशन नहीं शेयर किया है फिर भी.

Preventing Car Theft:

यदि आप अपने किसी वाहन में इसका उपयोग करते हैं तो ये चोरी हो जाने पर आप इस गाडी को ट्रैक कर सकते हैं और इस प्रकार आप खोयी हुई गाडी को दोबारा प्राप्त कर सकते हैं जीपीएस की सहायता से.

इस तरह और भी बहुत सारे आप उदाहरण सोच सकते हैं जिनमे जीपीएस का उपयोग किया जाता है और इसकी सहायता से अपने सामान को सुरक्षित रखा जाता है इसके सही लोकेशन का पता करके.

तो इस प्रकार आपने जाना कि GPS (Global Positioning System)  कैसे आपके पुरे लाइफ को आसान बना चूका है.

आपने इस पोस्ट में GPS (Global Positioning System)  के बारे में विस्तार से जाना, यदि आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे शेयर जरुर करें.

धन्यवाद.

About the author

Prakash Kumar Nirala

Prakash Kumar Nirala is a Techy who loves to spread his technical knowledge with all.

Leave a Comment